BITCOIN INDIA : भारत सरकार ने बिटकॉइन रेगुलेशन बिल पर लिया एक बड़ा फैसला। - GetSkillFeed

Breaking

GetSkillFeed

ONLINE EMPOWER KNOWLEDGE

Saturday, April 14, 2018

BITCOIN INDIA : भारत सरकार ने बिटकॉइन रेगुलेशन बिल पर लिया एक बड़ा फैसला।

BITCOIN INDIA : भारत सरकार ने बिटकॉइन रेगुलेशन बिल पर लिया एक बड़ा फैसला।

  दोस्तों आज सबसे पहले में आपको भारत सरकार के उस फैसले के बारे में बताऊंगा जो बिटकॉइन या दूसरी क्रिप्टोकरेन्सी के ऊपर भारत सरकार ने लिया  है। 

06 अप्रैल 2018 को RBI ( रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ) ने  Notification जारी किआ था जिसमे RBI ने सभी बैंको को कहा है की भारत में स्थित  कोई भी बैंक क्रिप्टोकरेन्सी के साथ लेनदेन नहीं करेगी, यानि जो भी आज के समय में क्रिप्टो करेंसी है उन्हें अब कोई भी व्यक्ति भारत में अपनी बैंक के माधयम से INR (इंडियन रुपया) में Exchange नहीं करा पायेगा। हालाँ कि RBI ने बैंको को तीन माह का समय दिया है की सभी बैंक भारत में चलने वाले बिटकॉइन एक्सचेंजर या व्यक्तियो के साथ जो भी लेन-देन है उसे पूरा कर ले और आगे के लिए सभी प्रकार का लेनदेन जो बिटकॉइन या दूसरे और alt कॉइन के साथ है उसे बंद कर दे। 

दोस्तों जैसे ही ये खबर RBI के द्धारा आयी तो सभी बिटकॉइन ट्रेडर्स के बीच खलवली मच गई। और वो सभी लोग परेशान हो गए  जिन्होंने बिटकॉइन पर निवेश किआ हुआ है। जो की स्वाभाविक है। 

तमाम मतभेद के  बाद आखिरकार भारत सरकार क्रिप्टोकरेन्सी के ऊपर अब एक बिल लाने वाली है। [ CNBC NEWS के अनुसार ] इस बिल में सरकार ने ऐसी किसी भी वर्चुअल क्रिप्टोकरेंसी को अवैध माना है जो की काल्पनिक कीमत पर आधारित हो। सरकार का मानना है की वर्चुअल करेंसी की जो कीमत होती है वो काल्पनिक होती है उसका कोई आधार नहीं होता है , लेकिन इस बिल में ये भी कहा गया है की यदि किसी क्रिप्टोकरेंसी के एवज में कोई संपत्ति है या संपत्ति के एवज में कोई क्रिप्टोकरेंसी  है तो वो वैध मानीजाएगी ,इसका सीधा मतलब यह है दोस्तों की सरकार क्रिप्टोकरेंसी के लेनदेन को शेयर मार्किट की तरह बनाना चाहती है ,यानी अगर कोई कंपनी क्रिप्टोकरेंसी बेच रही है तो वो किसी संपत्ति पर आधारित होनी चाहिए और उस संपत्ति की कीमत के अनुसार ही क्रिप्टोकरेंसी की कीमत बढ़नी या घटनी चाहिए न की काल्पनिक तरीके से।  और ऐसी " संपत्ति पर आधारित क्रिप्टो करेंसी " को सरकार ने " क्रिप्टो टोकन नाम दिया है "  ,इस समय जिस तरह का क्रिप्टोकरेंसी का कारोबार चल रहा है वो पूरी तरह अवैध माना जायेगा और गैरकानूनी होगा। 
सरकार ने इस बिल का मसौदा बना लिया है लेकिन अभी इस बिल को संसद में भेजा जायेगा पास होने के लिए उसके बाद अमल में लाया जाएगा। 


आखिर क्या है बिटकॉइन। ... ??

दोस्तों प्रत्येक  देश की अपनी एक मान्यता प्राप्त मुद्रा होती है। जैसे भारत में रूपया ,अमेरिका में डॉलर आदि ये मुद्रा किसी भी देश   की " fiat currancy " कहलाती है जिसमे उस देश की सरकार का पूरा अधिकार होता है और वो अपनी कर्रेंसी को जब चाहे बंद कर सकती है या जब चाहे नयी मुद्रा शुरू कर सकती है। किसी भी देश की fiat कर्रेंसी को हम देख सकते है और छू सकते है। 

जबकि दोस्तों बिटकॉइन एक डिजिटल वर्चुअल मुद्रा है जिसे हम क्रिप्टोकरेंसी कहते है ,क्रिप्टोकरेंसी में किसी भी देश की सरकार का कोई अधिकार नहीं होता है ,क्योकि ये पूरी तरह से कंप्यूटर algorithim से बनी हुई मुद्रा होती है इन्हे ना ही हम देख सकते है और न ही छू सकते है ये हमे सिर्फ एक डिजिटल फॉर्मेट में ही दिखाई देती है और पूरी तरह decentralized होती है। अर्थात इनका कोई center point नहीं होता जो इन्हे कंट्रोल करता हो। क्योकि यह मुद्रा blockchain टेक्नोलॉजी पर आधारित होती है अतः इसको पूरी दुनिया में कही भी आसानी से भेजा जा सकता है इन्हे कही किसी को भेजने   के लिए किसी बैंक की भी जरुरत नहीं पड़ती है। इस प्रकार की करंसी की कीमत उसकी डिमांड के अनुसार घटती या बढ़ती है। 



************

अगर आप ऑनलाइन जॉब ,इंटरनेट इनकम  से सम्बंधित कोई भी न्यूज़ या जानकारी पाना कहते है तो आप आज ही  इस ब्लॉग को Subscribe करे।  ......... 


No comments:

Post a Comment

Follow by Email